Welcome to Gandhi Satabdi Smarak College

  • महाविद्यालय द्वारा प्रदत सुविधाए

    1. महाविद्यालय के प्रत्येक विषय में मानक के अनुसार प्राध्यापक |
    2. समुन्नत पुस्तकालय एवं वाचनालय की व्यवस्था |
    3. महाविद्यालय में पंखा एवं कम्प्यूटर के लिए जनरेटर की व्यवस्था |
    4. सभी प्रयोगात्मक विषयो के लिए सुज्जित, संसाधनयुक्त प्रयोगशाला की उत्तम व्यवस्था |
    5. विद्यार्थियों के सर्वागीण विकास के लिए खेलो का मैदान तथा इससे सम्बन्धित कीड़ा सामग्री उपलब्ध है |
    6. छात्रो को भौतिक युग के अनुकूल सामर्थ्यवान बनाने हेतु महाविद्यालय में कम्प्यूटर शिक्षण की व्यवस्था की गई है |
    7. विभिन्न विषयो के छात्रो के लिए शैक्षणिक  पर्यटक की व्यवस्था  है |
    8. विद्यार्थियों के कलात्मक रूचि लेखन पटुता एवं नेत्रित्व जैसे गुणों को विकसित करने के लिए महाविद्यालय में सांस्कृतिक  परिषद का गठन किया गया है जिसके द्वारा समय -समय पर विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये जाते है |
    9. विश्वविद्यालय मानक के अनुसार महाविद्यालय में प्रत्येक विद्यार्थी की 75% उपस्थिति अनिवार्य है |
    10. मानक अनुरूप उपस्थिति नहीं होने पर विद्यार्थी परीक्षा से वंचित किया जा सकता है |
    11. साहित्यिक एवं सांस्कृतिक क्रिया-कलाप


      महाविद्यालय के छात्रों के स्वतन्त्र एवं व्यवस्थित चिन्तन, कलात्मक अभिरुचि, रचनात्मक प्रवृति यथा लेखन वाक्-शक्ति के उन्नयन तथा इसी प्रकार के अन्य रचनात्मक गुणों के संविकास के लिए पर्याप्त अवसर एवं सुविधाएँ हैं | इसके आयोजन एवं क्रियान्वयन हेतु महाविद्यालय में साहित्यिक एवं सांस्कृतिक परिषद् के तत्तवाधान में समय-समय पर सास्कृतिक एवं साहित्यिक कार्यक्रमों का प्रावधान हैं | इच्छुक छात्र परिषद् के संयोजक से सम्पर्क कर उनकी अनुमति से तत्संबंधी कार्यक्रमों के आयोजन में अपनी क्षमता का प्रदर्शन कर सकते हैं | छात्रों की सृजनात्मक प्रतिभा के उन्नयन में महाविद्यालय की पत्रिका “ जिजीविषा “ का महत्वपूर्ण योगदान हैं |

      पेयजल एवं शौचालय


      महाविद्यालय के परिसर में शुद्द पेयजल की आपूर्ति की व्यवस्था करायी गई हैं | विदयालय में छात्र एवं छात्राओं के उपयोग के लिए स्वच्छ शौचालयों की अलग-अलग पर्याप्त व्यवस्था हैं एवं छात्राओं के लिए अलग से कामन रूम की व्यवस्था हैं

      |

    प्रयोगशालाए


    महाविद्यालय में प्रायोगिक विषय भूगोल एवं मनोविज्ञान और अब गृहविज्ञान एवं शिक्षा शास्त्र विषयों में सामग्री एवं उपकरणों से पूर्ण सुसज्जित प्रयोगशालाए हैं | प्रायोगिक विषयों का चयन करने वाले छात्रों द्वारा प्रयोगात्मक कार्य करते समय उपलब्ध उपकरणों/प्रयोग सामग्रियों का उपयोग विभागीय अनुमति से किया जा सकेगा | प्रयोग के दौरान उपकरणों/प्रयोग सामग्रियों की टूट-फूट एवं क्षति की पूरी जिम्मेदारी सम्बंधित छात्र की होगी तथा ऐसी स्थिति में विभागाध्यक्ष द्वारा लगाया गया अर्थदंड छात्र द्वारा अनिवार्य रूप से देय होगा |


-->